शिवजी और श्रीकृष्ण जी का दूध से अभिषेक – Milk Worship of Shiv Ji & Krishna Ji Hindi

दोस्तों, शिवजी का कच्चे दूध से अभिषेक
होता है। यह दुग्ध की प्रथम अवस्था है। वहीं श्रीकृष्ण को माखन चढ़ाया जाता
है। यह दुग्ध की अंतिम अवस्था है। एक ही वस्तु के इन दो रूपों के पीछे एक
गूढ़ रहस्य छुपा है।

कच्चा दूध निर्मल होता है। ठीक उसी तरह से जैसे
संसार में आया कोई बच्चा जो छल-कपट से दूर होता है। भगवान शिव कच्चे दूध
को स्वीकार करते हैं। इसका मतलब है जो मनुष्य संसार के दुर्गुणों से दूर
रहकर अपने कर्मपथ पर चलता है, भगवान शिव ऐसे मनुष्य से सदैव प्रसन्न रहते
हैं।

दूसरी ओर श्रीकृष्ण माखन स्वीकार करते हैं। माखन यानी दुग्ध की
अंतिम अवस्था। यह एक लंबी प्रक्रिया के बाद सामने आता है जिसका मतलब है
दुग्ध का सार। दूसरे शब्दों में कहें तो जीवन का सार। मनुष्य का जीवन
निर्मलता से शुरू होता है। वह जीवन के बीच में चाहे जितने बंधन और आडंबर का
आवरण बना ले, एक दिन उसे ये सब छोडऩे ही पड़ते हैं।

विशेष निवेदन :- दोस्तो Post कैसी लगी हमें जरूर बताये, अगर पसंद आए तो हमेशा ऐसे ही पोस्ट के लिए हमारे ब्लॉग पर आए।
 
धन्यवाद,
आपका सादर आभार
Apni Kahaani Team

  • हरियाणा की लोककथा – Haryana Folk Taleहरियाणा की लोककथा – Haryana Folk Tale बदी का फल - शशिप्रभा गोयल किसी गांव में दो मित्र रहते थे। बचपनसे उनमें बड़ी घनिष्टता थी। उनमें से एक का नाम था पापबुद्वि और दूसरे का धर्मबुद्वि। पापबुद्वि पाप के काम करने में हिचकिचाता […]
  • रहीम दास के मशहूर दोहे – Rahim Das Dohe in Hindiरहीम दास के मशहूर दोहे – Rahim Das Dohe in Hindi दोस्तों, प्रसिद्ध कवि रहीम (Rahim) को उनके ज्ञानवर्द्धक और नीतिपरक दोहों के लिए जाना जाता है। रहीम मध्यकालीन सामंतवादी संस्कृति के कवि थे। उनका व्यक्तित्व बहुमुखी प्रतिभा-संपन्न था। वे […]
  • Sad Break UP Whatsapp Status in HindiSad Break UP Whatsapp Status in Hindi कोई एक पल हो तो, नजरें चुरा लें हम,ये तुम्हारी याद तो साँसों की तरह आती है.
Share this:

Leave a Comment