साबुन के खाली डिब्बे की कहानी – Management Story – Empty Soap Box Story

कई सालों पहले जापान में साबुन बनानेवाली सबसे बड़ी और प्रसिद्ध कंपनी को अपने एक ग्राहक से यह शिकायत मिली कि उसने साबुन का एक पैक खरीदा था पर उनमें से एक साबुन का डिब्बा खाली था. कंपनी के अधिकारियों को जांच करने पर
यह पता चला कि फैक्ट्री के पैकिंग असेम्बली लाइन में किसी तकनीकी गड़बड़ी के कारण साबुन के कई डिब्बे इसी तरह भरे जाने से छूट गए थे.

इसके लिए साबुन कंपनी ने एक कुशल इंजीनियर को रोज पैक हो रहे हज़ारों साबुन के डिब्बों में से खाली रह गए डिब्बों का पता लगाने के लिए तरीका ढूँढने के लिए कहा. काफी सोचविचार करने के बाद इंजीनियर ने फैक्ट्री के पैकिंग असेम्बली लाइन पर एक हाई-रिजोल्यूशन एक्स-रे मशीन लगाने के लिए कहा जिसे दो-तीन कारीगर मिलकर चलाते थे और एक कर्मचारी मॉनीटर की स्क्रीन पर निकलते जा रहे डिब्बों पर नज़र गड़ाए देखता रहता था ताकि कोई खाली डिब्बा बड़े-बड़े साबुन के बक्सों में नहीं चला जाए. उन्होंने ऐसी मशीन लगा भी ली थी पर सब कुछ यानि के साबुनों की पैकिंग इतनी तेजी से होता था कि वे भरसक प्रयास करने के बाद भी खाली डिब्बों का पता नहीं लगा पा रहे थे और मार्किट से ऐसे शिकायतों की बहुत ज्यादा मात्रा आने लगी.

इस तरह से होने वाली रोज रोज की परेशानी से बचने के लिए एक अदना कारीगर ने कंपनी अधिकारियों को एक अनूठा और बहुत ही साधारण सा सुझाव दिया और वो सुझाव यह था की पैकिंग असेम्बली लाइन पर एक बड़ा सा इंडस्ट्रियल पंखा लगाया जाये जिससे की जब तेजी से घूमते हुये  हुए पंखे के सामने से हर मिनट साबुन के सैंकड़ों डिब्बे गुज़रे तो उनमें मौजूद खाली डिब्बा सर्र से उड़कर दूर चला गया। 

इस तरह सभी की मुश्किलें पल भर में आसान हो गयी।
इसीलिए कहते हैं, कोई सुझाव छोटा नहीं होता ज़रुरत है तो बस उसे अमल में लाने की! आपको यह कहानी कैसी लगी, हमें Comment करके बताएं!
  • High Attitude Whatsapp Status & Shayari in HindiHigh Attitude Whatsapp Status & Shayari in Hindi ‪#‎तुझे‬ क्या ‪#‎लगता‬ है मुझे तेरी ‪#‎याद‬ नही आती,‪#‎पगली‬ कौन अपनी ‪#‎बरबादी‬ को भुल […]
  • सपने और उनके अर्थ – Dreams and their meaningsसपने और उनके अर्थ – Dreams and their meanings Picture Courtesy : www.whats-your-sign.com हमारे देखे हुए सपनों का क्या मतलब होता है? दोस्तों, हमारे देखे हुए हर सपने का मानव ज्योतिष के हिसाब से कुछ न कुछ मतलब होता है। कुछ […]
  • सूरदास – कृष्ण-भक्त महान कवि सूरदास (जन्म1483- मृत्यु 1563 ई. अनुमानित) सूरदास का जन्म दिल्ली के पास सीही ग्राम में एक निर्धन सारस्वत ब्राह्मण परिवार में हुआ। ये जन्मांध थे अथवा बाद में नेत्रहीन हुए, […]
Share this:

Leave a Comment