आचार्य रजनीश ओशो से जुड़े रोचक तथ्य – Acharya Rajneesh Osho Facts

Share this:
Acharya Rajneesh Osho Facts in Hindi

दोस्तों, दुनिया के चर्चित आध्यात्मिक गुरुआें में से एक आचार्य रजनीश ‘ओशो’ का जीवन रहस्यों से भरा हुआ है। वे खुद को अमीरों का गुरु कहते थे। ओशो की बातों पर कई बार भारी विवाद भी मचा है। उनका जन्म भोपाल के पास रायसेन में अपने नाना के घर हुआ था। आज हम अापको बता रहा है, आेशो के जीवन से जुड़ी 10 रोचक बातें, जो कम ही लोग जानते हैं।

ओशो से जुड़े रोचक तथ्य | Acharya Rajneesh Osho Facts :
1. पैदा होने के तीन दिन तक न रोये और न हँसे – ओशो का जन्म 11 दिसम्बर 1931 को मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में हुआ था | पैदा होने के तीन दिन बाद तक ओशो न तो हँसे थे और न ही रोये थे | इससे उनके परिवार के लोग बेहद परेशां हो गये थे |

2. 12 साल की उम्र में रात में श्मशान जाते थे – ओशो 12 साल की उम्र में रात में बिना डरे श्मशान पहुँच जाते थे | वह यह पता करने के लिए जाते थे की आखिर इंसान मरने के बाद जाता कहाँ है |

3. 14 साल की उम्र में सात दिनों तक मौत का इन्तजार करते रहे – ज्योतिषियों के अनुसार 21 साल तक हर सातवें वर्ष में ओशो की मृत्यु का योग बताया गया था | 14 साल की उम्र में वे सात दिनों तक मंदिर में लेटकर मौत का इन्तजार करते रहे | इस दौरान एक सांप भी आया, लेकिन वापस चला गया |

4. संन्यास लेते ही पिता पैर पकड़कर रोये थे – ओशो के पिता को खुद ओशो ने ही संन्यास दिलाया था | सन्यास लेते ही ओशो के पिता उनके पैर पकड़कर खुद रोये थे | ओशो के पिता के पास 1400 एकड़ जमींन थी |

5. दोस्तों को पानी डुबो देते थे –
नदी में नहाते-नहाते ओशो अपने दोस्तों को पानी में डुबो देते थे | उनके दोस्तों से इस पर विवाद होता था | वे कहते थे; “मैं यह देखना चाहता हूँ की मरना क्या होता है” |

6. हाथी पर बैठकर स्कूल गए – ओशो शुरू से ही लग्जरी जीवन जीने के शौकीन रहे थे | एक बार तो उन्होंने जिद पकड़ ली की हाथी पर बैठकर ही स्कूल जायेंगे | जिद देखकर उनके पिता को हाथी मंगवाना पड़ा और उस पर बैठकर वे स्कूल गए |

7. वे अमीरों के गुरु थे, गरीबो के नहीं – ओशो अपने इंटरव्यू में कई बार कहाँ की वे अमीरों के गुरु हैं | गरीबो की चिंता करने वाले बहुत से गुरु हैं, मुझे अमीरों के लिए सोचने दो |

8. एक दिन में तीन किताबे पढ़ लेते थे – ओशो पढने-लिखने के बेहद शौकीन थे | किशोरावस्था में ही वे एक दिन में तीन-तीन किताबे पढ़ लिया करते थे | उन्हें जर्मनी, मार्क्स और भारतीय दर्शन की किताबे पढना पसंद था |

9. 365 रोल्स रॉयस कार खरीदना चाहते थे ओशो – ओशो ने एक इंटरव्यू में कहा था की वे 365 रोल्स रॉयस कारें खरीदना चाहते हैं | एक वक्त तक उनके पास 90 रोल्स रॉयस कारें थी | यह कारें उनके शिष्य उन्हें दान में देते थे |

10. अमेरिका में हत्या की कोशिश – ओशो ने आशंका जताई थी की अमेरिका में उनकी हत्या की कोशिश हो सकती है | 1981 से 1985 तक वे अमेरिका में रहे थे, इसके बाद वह विश्व भ्रमण पर निकल गए थे |

Share this:

Leave a Reply