आग क्या है? – What is the Fire?

Share this:
www.apnikahaani.com

दोस्तों और मेरे आदरणीय पाठकों, मैंने और आप सब ने आग को तो देखा ही होगा। कोई अगर आप से या हमसे कहे की आग क्या होती है तो हम तुरंत ही कहेंगे की आग एक ऐसी चीज़ है जो गर्मी और प्रकाश उत्पन्न को करती है, जो किसी चीज़ को जलाने से पैदा होती है, लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा है की आग किस चीज से बनती है? आइये जानते है – 

सबसे पहली बात, आग एक ठोस चीज़ की तरह दिखती है, लेकिन यह है नहीं। यह तो वास्तव में सिर्फ वाष्प (vapor) है. आग तो दहन(combustion) नामक एक रासायनिक प्रतिक्रिया का परिणाम होती है. दहन प्रतिक्रिया में एक निश्चित बिंदु पर आग की लपटें उत्पन्न होती हैं. इस बिन्दु को इग्निशन बिंदु(ignition point) कहा जाता है.
आग की लपटें मुख्य रूप से कार्बन डाइऑक्साइड, जल वाष्प, ऑक्सीजन और नाइट्रोजन से मिलकर बनती है. आग गर्मी और प्रकाश का उत्सर्जन करती है. आग उत्पन्न करने के लिए इन तीन चीजों का होना बहुत जरुरी हैं : ईंधन, ऑक्सीजन और उर्जा.

आग गर्म क्यों होती हैं ? : आग गर्म होती है क्योंकि दहन की प्रक्रिया के दौरान इंधन पदार्थ के रासायनिक बॉन्ड्स (Chemical Bonds) टूटते हैं और बनते हैं. इसकी वजह से थर्मल एनर्जी (Thermal Energy) उत्पन्न होती हैं. दहन के दौरान इंधन और ऑक्सीजन का कार्बन डाइऑक्साइड और पानी में रूपांतरण होता हैं. इस प्रक्रिया को शुरू करने के लिए उर्जा की जरुरत होती हैं जिससे इंधन और ऑक्सीजन के परमाणुओं के बीच के बॉन्ड्स टूटते हैं, लेकिन इसमें ज्यादा उर्जा तब release होती हैं जब यह रासायनिक बॉन्ड्स कार्बन डाइऑक्साइड और पानी के स्वरुप को धारण करते हैं. इसमें धुएं के स्वरुप में कुछ अस्थिर गैसें बाहर निकलती हैं. यह धुआं ज्यादातर हाइड्रोजन, कार्बन और ऑक्सीजन से बना होता हैं.

तो, इस तरह से कह सकते हैं की – – –  > ईंधन + ऑक्सीजन + ऊर्जा – – – -> कार्बन डाइऑक्साइड + पानी + अधिक ऊर्जा

अगर लकड़ी के दहन के दौरान अस्थिर गैसें पर्याप्त गर्मी (260 Degree Centigrade) प्राप्त कर लेती हैं तब उसके अणु (Atom) टूट जाते हैं और उसके परमाणु ऑक्सीजन के साथ पानी, कार्बन डाइऑक्साइड और अधिक ऊर्जा के स्वरुप को धारण करने के लिए फिर से जुड़ते हैं. दूसरे शब्दों में कहा जाये तो वे जलते हैं. दहन के दौरान प्रकाश और गर्मी release होते है. लपटें उर्जा की मौजूदगी का सबूत होती हैं. लपटें ज्यादातर गर्म गैसों से मिलकर बनती है. आग का प्रकाश, दहन प्रतिक्रिया का एक दृश्य संकेत है, लेकिन तापीय ऊर्जा (गर्मी) अदृश्य हो सकती है. इससे प्रकाश उत्पन्न होता हैं क्योंकि, पदार्थ गरमा गरम प्रकाश का उत्सर्जन करने के लिए पर्याप्त गर्म हो चुका होता है. आग की लपटें आयनीकृत गैसों (Ionized gases) से प्रकाश का उत्सर्जन करती हैं जिसकी वजह से एक चमक दिखती हैं. अगर लपटें पर्याप्त रूप से गर्म हो जाती हैं तो उसके अन्दर के वायु आयनित हो जाते हैं और आग का नया स्वरुप मिलता है जिसे प्लाज्मा कहते हैं . प्लाज्मा के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए आप Wikipedia search कर सकते हैं।

साभार – http://universeinhindi.blogspot.in/

Share this:

Leave a Reply