समय धन है, इसे व्यर्थ में मत गवाओ – गांधीजी प्रेरक प्रसंग – Time is Money, don’t waste it

Share this:
apnikahaani.blogspot.com

दोस्तों, और मेरे आदरणीय पाठकों, ये हम सभी जानते हैं की समय कितना अनमोल है और इसी बात को जानते हुए दुनिया के लगभग सभी विद्वान, चिन्तक और महापुरुषों ने समय को धन कहा है। आज हम समय की इसी महत्ता को दर्शाने वाली राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी से जुडी प्रेरक प्रसंग के बारे में पढेंगे, उम्मीद है आप इसे पसंद करेंगे।

दोस्तों, यह बात उन दिनों की है जब गांधीजी साबरमती आश्रम में रहते थे. एक दिन पास के एक गाँव के कुछ लोग बापू के पास आए और उनसे कहने लगे – बापू, कल हम लोगों ने अपने गाँव में एक सभा का आयोजन किया है, यदि आप थोड़ा समय निकाल कर हमारे बीच आयें और हमारा मार्गदर्शन करें तो आपकी बहुत कृपा होगी।


गांधी जी ने अपना कल का प्रोग्राम देखा और गाँव के लोगों से पूछा – सभा के कार्यक्रम का समय कितने बजे है?

एक कार्यकर्ता ने कहा – हमने चार बजे निश्चित कर रखा है।

गांधी जी ने आने की अपनी रजामंदी दे दी.

कार्यकर्ता बोला – बापू मैं गाड़ी से एक व्यक्ति को भेज दूँगा, जो आपको ले आएगा ताकि आपको अधिक कष्ट न हो।

गांधी जी बोले – ठीक है, कल निश्चित समय मैं तैयार रहूँगा।

अगले दिन जब पौने चार बजे तक कोई आदमी नहीं पहुँचा तो गांधी जी चिंतित हो गए. उन्होंने सोचा अगर मैं समय से नहीं पहुँचा तो लोग क्या कहेंगे. उनका समय व्यर्थ नष्ट होगा.

गांधी जी ने एक उपाय सोचा और उसी के अनुसार अमल किया. कुछ समय पश्चात वह कार्यकर्ता गांधी जी को लेने आश्रम पहुँचा तो गांधी जी को वहाँ नहीं पाकर उसे बहुत आश्चर्य हुआ. वह वापस लौट गया. जब वह सभा स्थल पर पहुँचा तो उन्हें यह देख कर आश्चर्य हुआ कि गांधी जी भाषण दे रहे हैं और सभी लोग तन्मयता से उन्हें सुन रहे हैं.

भाषण के उपरांत वह गांधी जी से मिला और उनसे पूछने लगा – मैं आपको लेने आश्रम गया था लेकिन आप वहाँ नहीं मिले, फिर आप यहाँ तक कैसे पहुँचे?

गांधी जी ने कहा – जब आप पौने चार बजे तक नहीं पहुँचे तो मुझे चिंता हुई कि मेरे कारण इतने लोगों का समय नष्ट हो सकता है इसलिए मैंने साइकिल उठाई और तेज़ी से चलाते हुए यहाँ आ गया।

वह कार्यकर्ता बहुत शर्मिंदा हुआ. गांधी जी ने कहा – समय धन है, इसे व्यर्थ में मत गवाओ। उस युवक को समय के महत्व का पता चल चुका था।

साभार : एक Facebook मित्र

मित्रों, अपने बहुमूल्य विचार हमें नीचे Comment के माध्यम से दें! धन्यवाद्! हमारे अन्य हजारों पाठकों की तरह, आप भी हमारे Free Email Newsletter का Subscription ले सकते हैं! यदि आप हमारे ब्लॉग पर दिए हुए जानकारी से संतुष्ट हैं तो आप हमें Facebook पर Like कर सकते हैं और Twitter पर Follow भी कर सकते हैं!

Share this:

Leave a Reply