व्यंग्य – भारत में भ्रष्ट्रचार – Corruption in India – Hindi Joke

Share this:
apnikahaani.blogspot.com

एक आदमी ने धरती से किया प्रस्थान,
यमराज के कक्ष में घड़ियां देखकर रह गया हैरान।
हर देश की अलग घड़ी थी,
कोई छोटी, कोई बड़ी थी।
कोई दौड़ रही, कोई बंद, कोई तेज, कोई मन्द,
उनकी अलग-अलग रफ्तार देखकर आदमी चकराया।

कारण पूछा तो यमराज ने बताया,
हर घड़ी की उसी हिसाब से है रफ्तार,
जिस हिसाब से हो रहा है उस देश में भ्रष्ट्रचार।


आदमी ने चारों तरफ नजर दौड़ाई,
लेकिन भारत की घड़ी कहीं भीनजर नहीं आई,
आदमी मुस्कुराया, यमराज के कान में फुसफुसाया,
कांग्रेस वाले भ्रष्टाचार यहां भी ले आए,
सच-सच बताओ, घड़ी न रखने के कितने पैसे खाए।

यमराज बोले: तेरे शक की सुई तो बिना बात उछल रही है,
मेरे बेड रूम में जाकर देख, पंखे की जगह भारत की घड़ी चल रही है।।।।

साभार : एक Facebook मित्र


मित्रों, अपने बहुमूल्य विचार हमें नीचे Comment के माध्यम से दें! धन्यवाद्! हमारे अन्य हजारों पाठकों की तरह, आप भी हमारे Free Email Newsletter का Subscription ले सकते हैं! यदि आप हमारे ब्लॉग पर दिए हुए जानकारी से संतुष्ट हैं तो आप हमें Facebook पर Like कर सकते हैं और Twitter पर Follow भी कर सकते हैं!

See More:

Share this:

Comments(2)

  1. August 20, 2013
  2. December 30, 2013

Leave a Reply to ANAND SHARMA Cancel reply