समस्या का समाधान – Problem’s Solution

Share this:
problem in hindiएक छोटे से गाँव में एक किसान रहा करता था. वह अपने एक बड़े से खेत में खेती किया करता था. उस खेत के बीचो-बीच पत्थर का एक छोटा सा हिस्सा ज़मीन से ऊपर निकला हुआ था जिससे ठोकर खाकर वह कई बार खुद भी गिर चुका था और ना जाने कितनी ही बार उससे टकराकर उसके खेती के औजार भी टूट चुके थे.

रोजाना की तरह आज भी वह किसान सुबह-सुबह खेती करने पहुंचा पर जो सालों से होता आ रहा था फिर वही हुआ , यानि एक बार फिर से उस किसान का हल उसी पत्थर के छोटे हिस्से से टकराकर टूट गया. आज किसान बिल्कुल क्रोधित हो उठा, और उसने मन ही मन सोचा की आज जो भी हो जाए वह इस चट्टान को ज़मीन से निकाल कर अपने खेत के बाहर फ़ेंक ही देगा. 


वह तुरंत भागा और गाँव से 4-5 लोगों को बुला लाया और सभी को लेकर वह उस पत्त्थर के पास पहुंचा .” मित्रों”, किसान बोला – ये देखो ज़मीन से निकले चट्टान के इस हिस्से ने मेरा बहुत नुक्सान किया है, और आज हम सभी को मिलकर इसे जड़ से निकालना है और खेत के बाहर फ़ेंक देना है.”

और ऐसा कहते ही वह फावड़े से पत्थर के किनार वार करने लगा, पर ये क्या ! उसके आश्चर्य का ठिकाना नहीं रहा क्योंकि अभी उसने एक-दो बार ही फावड़ा मारा था की पूरा का पूरा पत्थर ज़मीन से बाहर निकल आया. साथ खड़े सभी लोग भी अचरज में पड़ गए और उन्ही में से एक ने हँसते हुए उस किसान से पूछा ,” क्यों भाई , तुम तो कहते थे कि तुम्हारे खेत के बीच में एक बड़ी सी चट्टान दबी हुई है , पर ये तो एक मामूली सा पत्थर निकला ??” खुद किसान भी आश्चर्य में पड़ गया क्योंकि सालों से जिसे वह एक भारी-भरकम चट्टान समझ रहा था दरअसल वह बस एक छोटा सा पत्थर था !!

उसे बहुत पछतावा हुआ कि काश उसने पहले ही इसे निकालने का प्रयास किया होता तो ना उसे इतना नुकसान उठाना पड़ता और ना ही दोस्तों के सामने उसका मज़ाक बनता!

दोस्तों, इस किसान की तरह ही हम भी कई बार ज़िन्दगी में आने वाली छोटी-छोटी बाधाओं को बहुत बड़ा समझ लेते हैं और उनसे निपटने की बजाये सालों तक केवल तकलीफ उठाते रहते हैं. लेकिन, ज़रुरत इस बात की है कि हम बिना समय गंवाएं उन मुसीबतों से लडें , और जब हम ऐसा करेंगे तो कुछ ही समय में चट्टान सी दिखने वाली हर समस्या एक छोटे से पत्थर के समान दिखने लगेगी जिसे हम आसानी से ठोकर मार कर आगे बढ़ सकते हैं.

अपने बहुमूल्य विचार हमें नीचे Comment के माध्यम से हम तक पहुंचाएं! धन्यवाद!

Share this:

Leave a Reply