दलाई लामा के अनमोल वचन – Dalai Lama Hindi Quotes

Share this:
dalam lama hindi

1. मेरा धर्म बहुत सरल है. मेरा धर्म दयालुता है.

2. पुराने मित्र बिछड़ जाते हैं, नए मित्र मिल जाते हैं. ये दिनों की तरह है, जैसे पुराना दिन बीत जाता है और नया दिन आ जाता है. लेकिन महत्वपूर्ण है उसे सार्थक बनाबा चाहे वह एक सार्थक मित्र हो या सार्थक दिन

3. हमारे जीवन का मुख्य उद्देश्य है दूसरों की मदद करना | और अगर आप किसी की मदद नहीं कर सकते तो कम से कम उन्हें नुकसान मत पहुंचाएं|

4. नींद सबसे अच्छा चिंतन है!


5. व्यक्ति कभी कभी कुछ कह कर एक गतिशील प्रभाव बनाता है, और कभी कभी चुप रहकर भी उसी तरह का एक महत्वपूर्ण छाप बनाता है.

6. खुश रहना हमारे जीवन का उद्देश्य है.

7. मंदिरों के लिए कोई ज़रूरत नहीं है, जटिल दर्शन की भी कोई ज़रूरत नहीं है. मेरा दिमाग और मेरा दिल मेरे मंदिर   हैं, मेरा  दर्शन दया है.

8. हम धर्म और ध्यान के बिना रह सकते हैं, लेकिन हम मानव स्नेह के बिना जीवित नहीं रह सकते.

9. हम बाहरी दुनिया में शांति कभी नहीं प्राप्त सकते हैं जब तक हम खुद के साथ शांति न  बना लें ?

10. व्यक्ति चाहे किसी धर्म में विश्वास रखता हो या न हो, और चाहे पुनर्जन्म में विश्वास रखता हो या न , लेकिन ऐसा कोई नहीं है जो दया और करुना की सराहना नहीं करता हो|

11. मनुष्य आपनी क्षमता और आत्म विश्वास के साथ, एक एक बेहतर दुनिया का निर्माण कर सकता हैं. 

सभी प्रमुख धार्मिक परंपराओं को मूल रूप से एक ही संदेश है कि प्यार, दया और क्षमा महत्वपूर्ण बात यह है कि वे हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा होना चाहिए|

12. जब तक संभव हो सके दयावान रहें. यह हमेशा संभव है|

13. खुशी अपने आप बनायीं हुई नहीं मिलती है| यह अपने खुद के कार्यों से आती है|

14. यदि आप दूसरों की मदद कर सकते हैं तो करें, अगर आप ऐसा नहीं कर सकते हैं, तो कम से कम उन्हें नुकसान मत पहुंचाएं.

15. यदि आप एक विशेष विश्वास या धर्म में आस्था रखते हैं तो ये अच्छी बात है| लेकिन आप इसके  बिना भी जीवित रह सकते हैं.

16. यदि आप दूसरों को खुश देखना चाहते हैं तो करुणा का भाव रखें | यदि आप स्वयं खुश होना चाहते हैं तो भी करुणा का भाव रखें.

17. सहिष्णुता के अभ्यास में, एक दुश्मन ही सबसे अच्छा शिक्षक है.

18. प्रेम और करुणा आवश्यकताएं हैं, विलासिता नहीं है. उनके बिना मानवता जीवित नहीं रह सकती.

अपने बहुमूल्य विचार हमें नीचे Comment के माध्यम से हम तक पहुंचाएं! धन्यवाद!

Share this:

One Response

  1. May 18, 2013

Leave a Reply